लॉकडाउन प्रेम रावत जी के साथ, पांचवा दिन - audio

“शुक्रगुज़ार रहें, सकारात्मक रहें, सच्चे रहें! सच्चाई को समझें। आप उसके एक हिस्से हैं जो आपके आस-पास चल रहा है। जब आप चमकते हैं, तो आप अँधेरे को दूर कर देते हैं। और यह बहुत जरूरी है - हर एक रोज - अंधकार को दूर रखना ।" —प्रेम रावत